आर्थिक विकास और निवेश

लगभग 50 साल पहले, हमने देखा कि हमारे माता-पिता पूरी जिंदगी काम करते थे । लोग लंबे समय तक एक ही नौकरी पर टिके रहते थे, चाहे वह सरकारी नौकरी हो या निजी नौकरी। अगर वे निवेश के बारे में जानते भी थे, तब भी यह बहुत मायने नहीं रखता था क्योंकि उनके पास एक स्थिर आय थी जो उन्हें अपने बच्चों की देखभाल करने और उन्हें स्कूल भेजने, घर खरीदने और चिकित्सा जरूरतों के लिए भुगतान करने में खत्म हो जाती थी। जब वे सेवानिवृत्त होते हैं, तो उन्हें सेवानिवृत्त मद के लाभों से बहुत सारा पैसा और पेंशन मिलती थी जिससे वे अपनी दूसरी पारी चलाते थे।

आर्थिक विकास के लिए निवेश निम्नलिखित 3 कारणों से महत्वपूर्ण है “:

आर्थिक विकास और निवेश एक दूसरे के पूरक हैं। अगर हम अपने भविष्य को सुरक्षित और अपने आर्थिक विकास को ध्यान में रखते हैं तो निवेश स्वत: एक मजबूत भूमिका निभाता नजर आता है। निम्नलिखित तीन कारण इसे समझने में मदद करते हैं

  1. महंगाई की बढ़ती दर को मात देने के लिए।
  2. आर्थिक लक्ष्यों को शीघ्रता से प्राप्त करने के लिए।
  3. आने वाली पीढ़ी के लिए पैसा कमाना।

वर्तमान समय और inflation rate को देखते हुए तो ऐसा लगता है कि भविष्य में एक बेहतर ज़िंदगी गुजारने के लिए आज कि तुलना में कई गुना ज्यादा पैसे की आवश्यकता पड़ेगी। अत: अपना आर्थिक लक्ष्य निर्धारित करें और निवेश की शुरुवात करें।

निवेश का महत्व

निवेश इन दिनों जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। चीजें वैसी नहीं हैं जैसी वे हुआ करती थीं। ज्यादातर लोग अब निजी कंपनियों के लिए काम करते हैं, जहां नौकरी की सुरक्षा नहीं है। वर्तमान समय और उम्र में, आपको अपने परिवार की देखभाल करनी होगी, जिसमें आपके बुजुर्ग माता-पिता, आपके बच्चे, उनकी शिक्षा, उनके चिकित्सा बिल और बहुत कुछ शामिल हैं।

इंटरनेट की दुनिया में आपको भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। चिकित्सा देखभाल की कीमत इतनी बढ़ गई है कि एक Middle-class salaried व्यक्ति अब इसे नहीं ले सकता। यदि आप इस आधुनिक दुनिया को अगली पीढ़ी को देते हैं, तो यह अभी की तुलना में और भी तेज और अधिक Rival होगी। जब आप उस दुनिया को देखते हैं जो आपके बच्चों को विरासत में मिलेगी, तो आपको यह उम्मीद नहीं करनी चाहिए कि जब आप बूढ़े होंगे तो वे आपकी देखभाल करेंगे। इन सभी कारणों और प्रभावों के कारण, आर्थिक विकास के लिए निवेश महत्वपूर्ण हैं। जल्दी निवेश शुरू करना हमेशा एक अच्छा विचार है।

भविष्य के लिए

संक्षेप में, यह स्पष्ट है कि जब आप पैसे के लिए काम करते हैं, तो आपका पैसा भी आपके लिए काम करना चाहिए ताकि आप भविष्य की जरूरतों को पूरा कर सकें। आपको अच्छी मात्रा में धन का निर्माण करने के लिए निवेश करने की आवश्यकता होगी ताकि यदि आप अपनी नौकरी खो देते हैं या सेवानिवृत्ति की आयु तक पहुंच जाते हैं, तो आपका पैसा आपके लिए पैसा बनाना जारी रखेगा। हम अपने बुढ़ापे के लिए अपने बच्चों पर निर्भर होना नही चाहते बल्कि हम एक ऐसी स्थिति मे होना पसंद करेंगे जहां हम अपने खर्चों के साथ उनकी आर्थिक मदद के लिए भी हमेशा उपलब्ध हों।

निवेश की परिभाषा कभी नहीं कहती है कि आपको निवेश करने के लिए बहुत अधिक धन की आवश्यकता है। आप अपने बजट में अलग रखे पैसों से नियमित रूप से निवेश करना शुरू कर सकते हैं। यह बहुत स्पष्ट है कि यह समय उन लोगों के लिए नहीं है जो केवल कड़ी मेहनत करते हैं। इसके बजाय, यह “जीत-जीत वाली पीढ़ी” उन लोगों से बनी है जो स्मार्ट काम करते हैं और स्मार्ट निवेश करते हैं। इसलिए, आपको अभी और भविष्य में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए निवेश करने की आवश्यकता है।

निवेश करने के लिए एक योजना बनाएँ

financial नियोजन एक बहुत बड़ा विचार है, लेकिन पैसा निवेश करना एक पाई चार्ट का एक छोटा सा हिस्सा है। जब आप पैसा निवेश करने का निर्णय लेते हैं, तो आपकी नियमित बचत आपकी योजना का आधा हिस्सा बन जाती है। अगला कदम अपने थोड़े और लंबे समय के financial लक्ष्यों को लिखना और वहां पहुंचने की योजना बनाना है। स्पष्ट लक्ष्यों के साथ उचित financial नियोजन तभी किया जा सकता है जब आप जानते हों कि आपके लिए कौन से निवेश विकल्प सर्वोत्तम हैं, जोखिम क्या हैं, जोखिम लेने से आपको कितना लाभ होगा, आदि।

जैसे-जैसे हम आगे बढ़ेंगे, हम financial नियोजन के विभिन्न भागों के बारे में अपने अगले पोस्ट में बात करते रहेंगे।

अवश्य पढ़ें निवेश क्यों करें

Author

  • सुधीर भारद्वाज इस ब्लॉग पर फाइनेंस से जुड़े विभिन्न विषयों पर लिखते हैं। उन्होंने commerce में डिग्री हासिल की है और वर्तमान में एमबीए कर रहे हैं। सुधीर को पर्सनल फाइनेंस, निवेश और वेल्थ मैनेजमेंट का शौक है। सुधीर की लेखन शैली सरल और समझने में आसान है। अपने लेखों में, उनका उद्देश्य पाठकों को सूचित वित्तीय निर्णय लेने में मदद करना है।

Leave a Comment