जानें पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रोसेस और कितने समय में होगा?

अगर आपके पास कोई बड़ी ख्वाहिश है या जरूरत है, जैसे घर की रेनोवेशन, शादी, या मेडिकल एमरजेंसी, लेकिन पैसे नहीं हैं, तो एक पर्सनल लोन आपकी मदद कर सकता है। ये एक आसान तरीका है जहाँ आप एक फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन से रुपये उधार लेते हैं और उसे कुछ समय के लिए वापस करते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया क्या है और इसमें कितना समय लग सकता है? इस आर्टिकल में हम इस विषय पर विस्तार से बात करेंगे।

पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया क्या है?

Step 1: आवेदन जमा करना (Application submission)

पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया शुरू होता है जब आप अपनी लोन एप्लिकेशन सबमिट करते हैं। इसमें आपको अपनी पर्सनल और फाइनेंशियल डिटेल्स देनी होती हैं, जैसे आपका नाम, पता, नौकरी या बिज़नेस की जानकारी, और आपकी इनकम। ये सभी जानकारी को सही तरीके से भरना ज़रूरी है।

Step 2: डॉक्यूमेंट वेरिफ़िकेशन

जब आपकी एप्लिकेशन सबमिट हो जाती है, तो आपकी डॉक्यूमेंट की वेरिफ़िकेशन होती है। ये वेरिफ़िकेशन करने के लिए आपको अपने एड्रेस प्रूफ, इनकम प्रूफ, और आईडेंटिटी प्रूफ की कॉपीज़ सबमिट करनी होती हैं। लेंडर्स इन डॉक्यूमेंट्स को केयरफ़ुली चेक करते हैं ताकि आपकी आईडेंटिटी और इनकम वेरिफ़ाय की जा सके।

Step 3: क्रेडिट चेक

क्रेडिट चेक एक महत्वपूर्ण हिस्सा है पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया का। लेंडर्स आपकी क्रेडिट हिस्ट्री को देखते हैं ताकि वे आपकी लोन वापसी क्षमता का अंदाज़ा लगा सकें। अगर आपने पहले से ही लोन या क्रेडिट कार्ड लिए हैं और उन्हें समय पर चुका दिया है, तो आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होती है और अप्रूवल चांसेस बढ़ जाते हैं।

Step 4: लोन अप्रूवल डिसीज़न

लोन अप्रूवल डिसीज़न लेंडर के हाथ में होती है। वो आपकी एप्लिकेशन, डॉक्यूमेंट्स, और क्रेडिट हिस्ट्री को इवैल्यूएट करते हैं और फिर लोन को अप्रूव या रिजेक्शन का फैसला लेते हैं। अगर आपकी सभी चीजें सही हैं और आपकी वापसी क्षमता भी अच्छी है, तो आपको लोन अप्रूव किया जाता है।

Step 5: फंड्स की डिस्बर्समेंट

जब आपका पर्सनल लोन अप्रूव हो जाता है, तो आपको लोन राशि की राशि मिल जाती है। ये राशि आपके बैंक खाते में ट्रांसफ़र की जाती है। डिस्बर्समेंट प्रक्रिया के बाद, आप पैसे को अपनी ज़रूरत के मुताबिक इस्तेमाल कर सकते हैं।

पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया में समय कितना लगता है?

पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया का समय अलग-अलग फैक्टर्स पर डिपेंड करता है। कुछ मुख्य फैक्टर्स हैं जो इसमें प्रभावी होते हैं:

अप्रूवल समय पर प्रभाव डालने वाले फैक्टर्स

  • Application completeness: अगर आपने सारी ज़रूरी जानकारी और डॉक्यूमेंट्स सही तरीके से सबमिट किए हैं, तो अप्रूवल प्रक्रिया जल्दी हो सकती है।
  • लेंडर का वर्कलोड: अगर लेंडर का काम ज़्यादा है, तो अप्रूवल प्रक्रिया थोड़ा समय ले सकता है।
  • क्रेडिट हिस्ट्री: आपकी क्रेडिट हिस्ट्री भी समय का एक फैक्टर है। अगर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी है, तो अप्रूवल प्रक्रिया तेजी से हो सकती है।
  • लोन राशि: लोन राशि भी समय को प्रभावित करता है। बड़े लोन राशि के लिए लेंडर्स थोड़ा और समय ले सकते हैं।

ऑनलाइन बनाम ऑफ़लाइन एप्लिकेशन

आजकल बहुत से लेंडर्स ऑनलाइन पर्सनल लोन एप्लिकेशन्स भी एक्सेप्ट करते हैं। ऑनलाइन एप्लिकेशन्स के अप्रूवल प्रक्रिया में समय कम लग सकता है क्योंकि ये ऑटोमेटेड होता है और डॉक्यूमेंट वेरिफ़िकेशन भी जल्दी हो जाती है। साथ ही, ऑनलाइन एप्लिकेशन्स के लिए आपको फिजिकल ब्रांच में जाने की ज़रूरत नहीं होती, जिससे आप समय भी बचा सकते हैं।

लेंडर-विशेष प्रोसेसिंग समय

हर लेंडर की प्रोसेसिंग टाइम अलग हो सकती है। कुछ लेंडर जल्दी अप्रूव कर सकते हैं, जबकि दूसरे लेंडर्स थोड़ा समय ले सकते हैं। आपको लेंडर से प्रोसेसिंग टाइम के बारे में जानकारी लेनी चाहिए और अपनी रिक्वायरमेंट्स के मुताबिक सही लेंडर चुनना चाहिए।

अप्रूवल प्रक्रिया को तेज़ करने के लिए टिप्स

अप्रूवल प्रक्रिया को तेज़ करने के लिए कुछ टिप्स हैं:

  1. डॉक्यूमेंटेशन पूरा करें: ज़रूरी डॉक्यूमेंट्स को सही तरीके से सबमिट करें ताकि डॉक्यूमेंट वेरिफ़िकेशन जल्दी हो सके।
  2. अच्छी क्रेडिट हिस्ट्री रखें: अपनी क्रेडिट हिस्ट्री को अच्छी बनाएं और वर्तमान लोन या क्रेडिट कार्ड के भुगतान को समय पर करें। ये सभी फैक्टर्स आपके अप्रूवल चांसेस को बढ़ा सकते हैं।
  3. ऑनलाइन एप्लिकेशन चुनें: ऑनलाइन एप्लिकेशन्स से अप्रूवल प्रक्रिया में समय कम लग सकता है, इसलिए ऑनलाइन विकल्प का इस्तेमाल करें।
  4. लेंडर्स का रिसर्च करें और कंपेयर करें: अलग-अलग लेंडर्स की प्रोसेसिंग टाइम को कंपेयर करें और सही लेंडर को चुनें।
  5. सही इनफ़ॉर्मेशन प्रदान करें: सही और पूरी जानकारी प्रदान करें ताकि कोई देरी न हो।

निष्कर्ष

पर्सनल लोन का अप्रूवल प्रक्रिया आसान है लेकिन समय ले सकता है। एप्लिकेशन सबमिशन, डॉक्यूमेंट वेरिफ़िकेशन, क्रेडिट चेक, लोन अप्रूवल डिसीज़न, और फंड्स की डिस्बर्समेंट, ये सभी Step पर्सनल लोन के अप्रूवल प्रक्रिया में शामिल होते हैं। अप्रूवल प्रक्रिया का समय अलग-अलग फैक्टर्स पर निर्भर करता है, जैसे एप्लिकेशन का पूर्णता, लेंडर का वर्कलोड, क्रेडिट हिस्ट्री, और लोन राशि। ऑनलाइन एप्लिकेशन्स और सही डॉक्यूमेंटेशन सबमिशन करके आप अप्रूवल प्रक्रिया को तेज़ी से पूरा कर सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

  1. पर्सनल लोन के लिए कौन-से डॉक्यूमेंट्स ज़रूरी होते हैं?

एड्रेस प्रूफ,इनकम प्रूफ, और आईडेंटिटी प्रूफ जैसे डॉक्यूमेंट्स पर्सनल लोन के लिए ज़रूरी होते हैं।

  1. अगर मेरी क्रेडिट हिस्ट्री ख़राब है, क्या मैं पर्सनल लोन ले सकता हूँ?

हाँ, आप ख़राब क्रेडिट हिस्ट्री के साथ भी पर्सनल लोन ले सकते हैं। लेकिन आपकी अप्रूवल चांसेस कम हो सकते हैं और इंटरेस्ट रेट थोड़ा ज़्यादा हो सकता है।

  1. मिनिमम और मैक्सिमम लोन राशि कितनी हो सकती है?

पर्सनल लोन की मिनिमम और मैक्सिमम लोन राशि लेंडर्स के निर्णय पर निर्भर करती है। ये राशि आपकी इनकम, क्रेडिट हिस्ट्री, और लेंडर की नीतियों पर टाइप करती है।

  1. पर्सनल लोन के अप्रूवल चांसेस को बढ़ाने के लिए क्या टिप्स हैं?

अच्छी क्रेडिट हिस्ट्री बनाएं, सही डॉक्यूमेंटेशन सबमिट करें, और समय पर लोन की वापसी करें। ये सभी फैक्टर्स आपके अप्रूवल चांसेस को बढ़ा सकते हैं।

  1. पर्सनल लोन या क्रेडिट कार्ड, दोनों में क्या बेहतर है?

पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड दोनों ही अपने तरीके से फायदेमंद हो सकते हैं। पर्सनल लोन एक निश्चित राशि होती है जिसे आप एक बार में लेते हैं, जबकि क्रेडिट कार्ड पर आप रोज़मर्रा के ख़र्च कर सकते हैं। आपको अपनी ज़रूरत और वित्तीय स्थिति के हिसाब से दोनों को चुनना चाहिए।

Leave a Comment