रवि बिश्नोई: भारत का जादुई यंग लेग स्पिनर

युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने अपनी जादुई गुगली और फ्लिपर्स के साथ क्रिकेट के मैदान पर तहलका मचा दिया है।वह एक ऑलराउंडर भी हैं, जो निचले क्रम में उपयोगी योगदान दे सकते हैं। 23 वर्षीय इस खिलाड़ी ने अपनी प्रतिभा से सबको प्रभावित किया है और अपने छोटे से करियर में ही बड़े से बड़े दिग्गजों को परेशान किया है। आज हम बात करेंगे रवि बिश्नोई के क्रिकेट करियर के सफर, उनकी खेल शैली और भारतीय क्रिकेट के लिए उनके भविष्य की संभावनाओं के बारे में।

क्रिकेट के प्रति जुनून:

2000 में राजस्थान के जोधपुर में जन्मे रवि बिश्नोई का क्रिकेट के प्रति जुनून बचपन से ही था। उन्होंने जिला स्तर के टूर्नामेंटों में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया, जिससे उन्हें राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (RCA) की नजर लग गई। उन्हें RCA अकादमी में प्रशिक्षण के लिए चुना गया, जहाँ उन्होंने अपने कौशल को निखारा और एक बेहतरीन क्रिकेटर बनने का मार्ग प्रशस्त किया।

आईपीएल में शानदार शुरुआत:

2020 में, मात्र 19 वर्ष की आयु में बिश्नोई को किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) ने आईपीएल नीलामी में 2 करोड़ रुपये की मोटी रकम देकर खरीदा। उन्होंने अपने पहले ही सीजन में 24 मैचों में 12 विकेट लेकर अपनी छाप छोड़ी। उनकी घातक गुगली और चालाकी भरी गेंदबाजी ने अनुभवी बल्लेबाजों को भी परेशान कर दिया। बिश्नोई ने जल्द ही खुद को आईपीएल के सबसे रोमांचक युवा खिलाड़ियों में से एक के रूप में स्थापित किया।

राष्ट्रीय टीम में चयन और सफलता:

बिश्नोई के प्रभावशाली प्रदर्शन को अनदेखा करना मुश्किल था, और जल्द ही उन्हें राष्ट्रीय टीम में खेलने का अवसर मिला। 2021 में, उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज़ के लिए भारतीय टीम में चुना गया। उन्होंने अपना पदार्पण किया और अपने पहले ही ओवर में विकेट लेकर सभी को चौंका दिया। तब से, वह भारतीय टीम के नियमित सदस्य बन गए हैं और उन्होंने टी20 क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है।

 December 03, 2023 ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु में हुए टी२० मैच में 2महत्वपूर्ण विकेट लिये ।

खेलने की शैली और ताकत:

रवि बिश्नोई एक क्लासिक लेग स्पिनर हैं, जो अपनी गुगली के लिए जाने जाते हैं। वह गेंद को दोनों तरफ से स्पिन करने में माहिर हैं, जो बल्लेबाजों के लिए विकेट पर टिकना मुश्किल बना देता है। वह अपनी गेंदबाजी में विविधता लाने के लिए फ्लिपर्स और टॉप-स्पिनर्स का भी इस्तेमाल करते हैं, जो उनकी सबसे बड़ी ताकत है।

रवि बिश्नोई भारतीय क्रिकेट के भविष्य है। वह अभी युवा है और आगे सीखने और सुधार करने के लिए बहुत समय है। अगर वह अपने फॉर्म को जारी रख सकता है, तो वह भारतीय क्रिकेट टीम के लिए एक अहम खिलाड़ी बन सकता है और आने वाले वर्षों में भारत को कई जीत दिला सकता है।

लेख का सार:

रवि बिश्नोई एक उभरता हुआ सितारा है, जिसने अपनी प्रतिभा और कड़ी मेहनत से सभी को प्रभावित किया है। वह एक रोमांचक लेग स्पिनर हैं, जिसके पास भारतीय क्रिकेट में लंबे और सफल करियर बनाने की क्षमता है। अपने छोटे से करियर में ही उन्होंने राष्ट्रीय टीम में जगह बनाई है और अपने प्रभावशाली प्रदर्शन से सबका दिल जीता है। बिश्नोई से भारतीय क्रिकेट को भविष्य में बहुत उम्मीदें हैं।

Leave a Comment