Cryptocurrency क्या है? क्रिप्टोकरेन्सी की पूरी ABC सिर्फ आपके लिए

क्रिप्टोकरेन्सी क्या है:क्रिप्टोकरेन्सी का क्या मतलब है” Cryptocurrency Meaning in Hindi पर एक पूरी गाइड। जानें कि क्रिप्टोकरेन्सी क्या है- पूरा विवरण प्राप्त करें एकदम शुरुवात से।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है” की शुरुवाती गाइड में आपका स्वागत है।

शीर्षक में दिए गए प्रश्न का संक्षिप्त उत्तर यह है कि क्रिप्टोकरेंसी एक विकेंद्रीकृत डिजिटल मुद्रा है। लेकिन इसका क्या मतलब है, और यह कैसे काम करती है?

इस गाइड में, मैं क्रिप्टोकरेन्सी के बारे में आपके सभी सवालों का जवाब दूंगा। मैं आपको बताऊंगा कि इसका आविष्कार कब हुआ, यह कैसे काम करती है, और भविष्य में यह इतनी महत्वपूर्ण कैसे हो सकती है। इस गाइड के अंत तक, आप “क्रिप्टोकरेन्सी क्या है?” प्रश्न का उत्तर देने में सक्षम होंगे।

क्रिप्टोकरेन्सी की दुनिया तेजी से बदलती जा रही है, इसलिए हमारे पास बर्बाद करने का समय नही है। तो आइये शुरू करते हैं!

जब मैं एक नया शब्द सुनता हूं, तो मैं डिक्शनरी में उसकी परिभाषा देखता हूं। क्रिप्टोकरेन्सी ज्यादातर लोगों के लिए एक नया शब्द है, तो चलिए एन्क्रिप्शन की परिभाषा देखते हैं…

क्रिप्टोकरेन्सी का सिद्धांत?

माइनिंग
माइनर पहले गणित की पहेली को हल करने की कोशिश करता है, फिर अगले ब्लॉक को ब्लॉकचेन में जोड़ देता है और इनाम मांगता है।
एक्सचेंज
एक्सचेंज एक जगह (आमतौर पर एक वेबसाइट) होती है जहां आप क्रिप्टोकरेंसी खरीद, बेच या ट्रेड करि जाती हैं।
वॉलेट
क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जो पब्लिक और प्राइवेट पासवर्ड को संग्रहीत करता है, जिससे उपयोगकर्ता डिजिटल मुद्रा भेजने और प्राप्त करने में सक्षम होते हैं और उनके बैलेंस की निगरानी करते हैं।

एन्क्रिप्शन की परिभाषा

प्रत्येक क्रिप्टोकरेंसी के छह तत्व नीचे सूचीबद्ध किये गयें हैं। पूरे छह तत्वों के साथ हि किसी मुद्रा को क्रिप्टोकरेंसी कहा जा सकता है।

  • डिजिटलीकरण: एन्क्रिप्टेड मुद्रा केवल कंप्यूटर पर मौजूद है। इनके न तो सिक्के होते हैं और न हि कागज। फोर्ट नॉक्स या बैंक ऑफ इंग्लैंड जैसे बैंकों में कोई भी क्रिप्टोकरेंसी रिजर्व नहीं होते हैं!
  • विकेंद्रीकरण: क्रिप्टोकरेंसी में एक केंद्रीय कंप्यूटर या सर्वर नही है। उन्हें (आमतौर पर) हजारों कंप्यूटरों के नेटवर्क में वितरित किया जाता है। एक नेटवर्क जिसमे कोई केंद्रीय सर्वर नही होता है उसे विकेंद्रीकृत नेटवर्क कहा जाता है।
  • पीयर-टू-पीयर: क्रिप्टोकरेंसी लोगों के बीच ऑनलाइन प्रसारित होती है। उपयोगकर्ता बैंक, पेपाल या फेसबुक के माध्यम से लेनदेन नही करते। वे एक दूसरे से सीधे ट्रेड करते हैं। बैंक, पेपाल और फेसबुक सभी विश्वसनीय तृतीय पक्ष हैं। क्रिप्टोकरेंसी के लिए कोई विश्वसनीय तृतीय पक्ष नहीं है!

नोट: इसे एक विश्वसनीय तृतीय पक्ष इसलिए कहा जाता है क्योंकि उपयोगकर्ताओं को इसकी सेवाओं का उपयोग करने के लिए अपनी व्यक्तिगत जानकारी इन्हें सौपनी पड़ती है। उदाहरण के लिए, हम अपने पैसे को भरोसे के साथ बैंक को सौंपते हैं, और इसी तरह, हम फेसबुक को अपनी छुट्टियों की तस्वीरों सौंपते हैं!

  • गुमनामी: इसका मतलब यह है कि आप व्यक्तिगत जानकारी प्रदान किए बिना एन्क्रिप्टेड मुद्रा के मालिक हो सकते हैं, और इसका उपयोग भी कर सकते हैं। इस बारे में कोई नियम नहीं हैं कि कौन क्रिप्टोकरेंसी का मालिक है या उसका उपयोग कर सकता है। यह 4chan जैसी वेबसाइट पर कंटेंट पोस्ट करने जैसा है।
  • भरोसे की जरूरत नही: एक विश्वसनीय तीसरे पक्ष की अनुपस्थिति का मतलब है कि उपयोगकर्ता को इसका इस्तेमाल करने के लिए सिस्टम को अपनी निजी जानकारी सौंपने की आवश्यकता नहीं है। उपयोगकर्ता हमेशा अपने धन और जानकारी को पूरी तरह से नियंत्रित कर सकते हैं।
  • एन्क्रिप्शन: प्रत्येक उपयोगकर्ता के पास एक विशेष कोड होता है जो अन्य उपयोगकर्ताओं को उनकी जानकारी तक पहुंचने से रोक सकता है। इसे क्रिप्टोग्राफी कहा जाता है, और यह कोड तोड़ना लगभग असंभव होता है। एन्क्रिप्शन का मतलब है छिपाना। जब एक पासवर्ड का उपयोग जानकारी छिपाने के लिए किया जाता है, तो यह जानकारी छिप जाती है।
  • वैश्विक: हर देश की अपनी एक मुद्रा होती है, जिसे कानूनी तौर पर मान्य करार किया जाता है। एक देश की कानूनी मुद्रा को आसानी से दुनिया भर के दूसरे देशों में भेजना आसान नही है। लेकिन क्रिप्टोकरेंसी को दुनिया के सभी हिस्सों में आसानी से भेजा जा सकता है। क्रिप्टोकरेंसी सीमारहित मुद्रा है!

क्रिप्टोकरेंसी की यह परिभाषा एक अच्छी शुरुआत है, लेकिन आपको अभी भी क्रिप्टोकरेंसी को समझने का लंबा रास्ता तय करना है। अब मैं आपको बताना चाहता हूं कि क्रिप्टोकरेंसी कब और क्यों बनाई गई थी। इसके अलावा, मैं इस सवाल का भी जवाब दूंगा कि “आप किस क्रिप्टोकरेंसी को प्राप्त करना चाहते हैं?”

क्रिप्टोकरेंसी की शुरुवात

1990 के दशक की शुरुआत में, अधिकांश लोग अभी भी इंटरनेट को समझने की कोशिश हि कर रहे थे, मगर कुछ बहुत स्मार्ट लोगों ने महसूस कर लिया था कि यह एक शक्तिशाली साधन है।

इन स्मार्ट लोगों में से कुछ साइबर पंक भी थे (साइबर-पंक उन लोगों को कहा जाता है जो मजबूत पासवर्ड और गोपनीयता बढ़ाने वाली टेक्नोलोजियों के भरपूर उपयोग की वकालत करते हैं सामाजिक और राजनीतिक परिवर्तन के लिए), जो यह मानते हैं कि सरकारों और कंपनियों के पास बहुत अधिक शक्ति है। वे दुनिया के लोगों को अधिक स्वतंत्रता प्रदान करने के लिए इंटरनेट का उपयोग करना चाहते हैं। वे इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को एन्क्रिप्शन तकनीक का उपयोग करके अपने पैसे और जानकारी पर अधिक नियंत्रण की देने की उम्मीद करते हैं। आप तोह जानते हि हैं, साइबर पंक को भरोसेमंद तीसरे पक्ष बिल्कुल पसंद नही है!

साइबर पंक की टू-डू सूची में सबसे ऊपर डिजिटल मुद्रा है। डिजिकैश और साइबरकेश दोनों डिजिटल मुद्रा प्रणाली बनाने के प्रयास थे। इन दोनों में उन छह तत्वों में से कुछ तत्व थे जो क्रिप्टोकरेंसी के लिए आवश्यक हैं, लेकिन किसी में भी सभी तत्व नही थे। नब्बे के दशक के अंत तक, दोनों असफल हो गए।

2009 में पहली पूरी तरह से विकेंद्रीकृत डिजिटल मुद्रा प्रणाली दिखाई दी। इसके रचनाकारों ने साइबर पंकों की पिछली विफलताओं को देखा है और उनका मानना ​​है कि वे उससे बेहतर कर सकते हैं। उनका नाम सातोशी नाकामोटो है, और उनकी रचना को बिटकॉइन कहा जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी को समझने का मतलब है कि पहले Bitcoin को समझना जरूरी है…

बिटकॉइन की कहानी

सतोशी नाकामोतो कौन हैं, यह कोई नहीं जानता। सातोशी नाकामोटो एक आदमी, एक महिला या लोगों का एक समूह भी हो सकता है। सातोशी नाकामोटो ने केवल एन्क्रिप्टेड फोरम और ईमेल में हि बात की है।

2008 के अंत में, सातोशी नाकामोटो ने एक बिटकॉइन वाइट पेपर प्रकाशित किया। यह एक विवरण है कि बिटकॉइन क्या है और यह कैसे काम करता है। यह अन्य क्रिप्टोकरेंसी डिजाइन करने के लिए एक मॉडल बन गया है।

12 जनवरी 2009 को, सातोशी नाकामोटो ने बिटकॉइन का पहला लेनदेन किया। उन्होंने हैल हैल्नी नाम के एक व्यक्ति को 10 बिटकॉइन भेजे। 2011 तक, सातोशी नाकामोटो गायब हो गए थे। वे अपने बाद दुनिया की सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी छोड़ गए।

बिटकॉइन उन उपयोगकर्ताओं के बीच अधिक लोकप्रिय हो रहा है जो देखते हैं कि बिटकॉइन कितना महत्वपूर्ण हो गया है। अप्रैल 2011 में, एक बिटकॉइन का मूल्य एक अमेरिकी डॉलर (यूएसडी) था।

दिसंबर 2017 तक, एक बिटकॉइन का मूल्य 20,000 अमेरिकी डॉलर से अधिक हो गया था! आज एक बिटकॉइन की कीमत 9605 अमेरिकी डॉलर है। ये फिर भी एक अच्छा रिटर्न है, है न?

रोचक तथ्य

2010 में, एक प्रोग्रामर ने 10,000 बिटकॉइन से दो पिज़्ज़ा खरीदे, जो वास्तविक दुनिया का पहले बिटकॉइन लेनदेनों में से एक था। आज, 10,000 BTC लगभग US $ 96.05 मिलियन है, जो कि केवल दो पिज़्ज़ा के लिए बहुत बड़ी कीमत है।

जहां अन्य डिजिटल कैश सिस्टम विफल हुए, वहां बिटकॉइन सफल हुआ। लेकिन क्यों? सभी क्रिप्टोकरेन्सियों में आपस में क्या अंतर है? क्रिप्टोकरंसी को फिएट करेंसी से क्या अलग बनाता है? डिजिटल कैश का एक अन्य प्रयास ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी भी है। आइए देखें कि यह कैसे काम करता है …

ब्लॉकचेन क्या है? [What is Blockchain]

सभी क्रिप्टोकरेंसी अपने सिस्टम से तीसरे पक्ष को हटाने के लिए वितरित लेज़र तकनीक (डीएलटी) का उपयोग करती हैं। डीएलटी एक साझा डेटाबेस है जो लेनदेन की जानकारी रिकॉर्ड करता है। अधिकांश क्रिप्टोकरेंसी द्वारा उपयोग किए जाने वाले DLT को ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी कहा जाता है। पहला ब्लॉकचेन सातोशी नाकामोटो द्वारा डिजाइन किया गया था, बिटकॉइन के लिए।

ब्लॉकचेन किसी भी क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करके किए गए प्रत्येक लेनदेन का एक डेटाबेस है। ‘ब्लॉक’ नामक जानकारियों के समूहों को एक-एक करके डेटाबेस में जोड़ा जाता है और एक लंबी सूची बनाई जाती है। इसलिए, ब्लॉकचैन ब्लॉकों की एक सीधी श्रृंखला है! एक बार जानकारी को ब्लॉकचेन में जोड़ने के बाद, इसे हटाया या बदला नहीं जा सकता है। यह हमेशा के लिए ब्लॉकचेन पर रहता है और हर कोई इसे देख सकता है।

पूरे डेटाबेस को हजारों कंप्यूटरों के नेटवर्क में संग्रहीत किया जाता है, हर एक कंप्यूटर को नोड कहा जाता है। जब तक आधे से अधिक नोड सहमत नही होते कि नई जानकारी वैध और सही है, तब तक नई जानकारी ब्लॉकचेन में नही जोड़ी जा सकती है। इसे आम सहमति या कंसेंसस कहा जाता है। आम सहमति का विचार क्रिप्टोकरेंसी और साधारण बैंकिंग के बीच सबसे बड़ा अंतर है।

साधारण बैंकों में, लेनदेन डेटा बैंक में संगृहीत होता है। बैंक कर्मचारी सुनिश्चित करते हैं कि कोई भी अवैध लेनदेन न किया जाए। इसे सत्यापन कहा जाता है। आइए एक उदाहरण देखें।

जॉर्ज पर माइकल और जैक्सन के 10 डॉलर बकाया है। दुर्भाग्य से, जॉर्ज के खाते में केवल $१० हि हैं। उन्होंने एक हि समय में माइकल और जैक्सन दोनों को 10-10 डॉलर भेजने की कोशिश करने का फैसला किया। बैंक स्टाफ ने देखा कि जॉर्ज उसके जितना पैसा मौजूद हैं, उससे ज्यादा पैसा निकालने की कोशिश कर रहा था। वे इस लेनदेन को होने से रोकते देते हैं।

बैंक ने जॉर्ज के दोहरे खर्च को रोका, जो एक धोखाधड़ी थी। दोहरे खर्च को रोकने के लिए बैंक लाखों डॉलर खर्च करते हैं। डबल खर्च पर क्रिप्टोकरेंसी का क्या प्रभाव पड़ता है? क्रिप्टोकरेंसी लेनदेन को कैसे सत्यापित करती है? याद रखें, उनके पास बैंकों जैसे कर्मचारी नही होते हैं!

ब्लॉकचेन कैसे काम करता है?

क्रिप्टोकरेन्सी लेनदेन को ‘माइनिंग’ नामक एक प्रक्रिया में सत्यापित किया जाता है। तो, क्रीप्टोकरेन्सी माइनिंग क्या है और यह कैसे काम करता है?

क्रिप्टोकरेन्सी माइनिंग

माइनिंग शब्द सुन कर ऐसा लगता है कि क्रिप्टोकरंसी पैदा करने के लिए फावड़ा और सख्त टोपी का उपयोग किया जाता है, लेकिन यह वास्तव में एक एकाउंटिंग की तरह है। माइनर वे नोड होते हैं जो एक विशेष कार्य करते हैं, जिससे लेनदेन संभव होता है। मैं आपको एक उदाहरण के माध्यम से बिटकॉइन नेटवर्क का उपयोग करने का तरीका बताऊंगा।

  • जॉर्ज पे माइकल का 10 बिटकॉइन का कर्ज़ है। जॉर्ज ने घोषणा की कि वह माइकल को बिटकॉइन नेटवर्क पे 10 बिटकॉइन भेज रहा है।
  • माइनर इस जानकारी को प्राप्त करते हैं और इसे एन्क्रिप्ट करते हैं। इसे हैशिंग कहते हैं। वे इस जानकारी में अन्य लेनदेन जानकारी जोड़ते हैं और इसे हैश करते हैं। ब्लॉक बनने तक और जानकारियां जोड़ी जाती हैं और हैश की जाता है।
  • माइनर फिर उस एन्क्रिप्शन कोड या ब्लॉक हैश का अनुमान लगाने के लिए एक दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा करते हैं जो ब्लॉकचेन में जोड़े जाने से पहले नए ब्लॉक को दिया जाएगा। एक भाग्यशाली माइनर सही कोड का अनुमान लगा कर, उसे ब्लॉकचैन में जोड़ेगा।
  • अब नेटवर्क के अन्य सभी नोड नए ब्लॉक में लेनदेन की जानकारी को सत्यापित करेंगे। वे पूरी ब्लॉकचेन की जाँच करते हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि नई जानकारी मेल खाती है। यदि ऐसा है, तो नया ब्लॉक वैध है और जीतने वाला माइनर ब्लॉकचेन में नया ब्लॉक जोड़ सकता है। इसे पुष्टि कहते हैं।
  • माइकल को जॉर्ज से 10 बिटकॉइन मिल जाते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी माईन करने के लिए बहुत अधिक शक्तिशाली कंप्यूटर की आवश्यकता होती है, इसलिए माइनरों को उनके द्वारा किए जाने वाले कार्य के लिए पुरस्कृत किया जाता है। बिटकॉइन नेटवर्क पर, माइनर जो जानकारी के एक नए ब्लॉक की पुष्टि करते हैं, उन्हें नए 12.5 बिटकॉइन का इनाम मिलता हैं। इसी कारण से इसे माइनिंग कहा जाता है। माइनरसोना या कोयला नही माईन कर रहे हैं, वे नए बिटकॉइन माइन कर रहे हैं!

क्रिप्टोकरेंसी माइन करना क्या है?

माइनिंग के माध्यम से बिटकॉइन जैसे क्रिप्टोकरेंसी नेटवर्क, नए लेनदेन को सत्यापित और उनकी पुष्टि करते हैं। यह एक बैंक की तरह केंद्रीकृत लेखांकन पर भरोसा किए बिना दौहरे खर्च को रोक सकता है। क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचैन की सुरक्षा भरोसे या लोगों पे निर्भर नहीं है। उन्हें कंप्यूटर द्वारा किए गए गणितीय कार्यों द्वारा गारंटी दी जाती है!

अब आप जान गए हैं कि ब्लॉकचेन और क्रिप्टोकरेन्सी माइनिंग कैसे काम करते हैं। आगे, मैं आपको बताऊंगा कि क्रिप्टोकरेंसी नेटवर्क से कैसे जुड़ें …

क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग

क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग फिएट मुद्रा के उपयोग से अलग है। आप क्रिप्टोकरेंसी को छू नहीं सकते हैं, और आप इसका खाता भी नहीं खोल सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी केवल ब्लॉकचेन पर हि मौजूद है। उपयोगकर्ता अपनी एन्क्रिप्टेड मुद्रा तक पहुंचने के लिए पब्लिक और प्राइवेट पासवर्ड नामक कोड का उपयोग करते हैं।

यह एक ईमेल भेजने जैसा है। यदि आप चाहते हैं कि कोई व्यक्ति आपको एक ईमेल भेजें, तो आपको उन्हें अपना ईमेल पता बताना पड़ता है। यदि आप चाहते हैं कि कोई व्यक्ति आपको क्रिप्टोकरंसी भेज दे, तो आपको उन्हें अपना सार्वजनिक पासवर्ड बताना पड़ता है।

यदि आप अपने ईमेल पढ़ना चाहते हैं या ईमेल भेजना चाहते हैं, तो आपको अपना ईमेल पासवर्ड दर्ज करना होगा। इसी तरह से प्राइवेट पासवर्ड भी काम करता है। पब्लिक पासवर्ड कोई भी देख सकता है, लेकिन प्राइवेट पासवर्ड केवल आप देख सकते हैं। यदि आपके पास एक सर्वोच्च जानकारी है, तो आपको “क्रिप्टोकरेन्सी क्या है” गाइड से या सीख लेना चाहिए, की प्राइवेट पासवर्ड की सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण है!

crypto wallet

पासवर्ड को वॉलेट में संग्रहीत किया जाता है। एनक्रिप्टेड वॉलेट ऑनलाइन, ऑफलाइन, सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर या फिर पेपर के हो सकते हैं। कुछ को मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है या किसी वेबसाइट द्वारा होस्ट किया जा सकता है। और अधिक महंगे वॉलेट भी हैं। उदाहरण के लिए, एक हार्डवेयर वॉलेट की लागत लगभग एक सौ डॉलर होती है। क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करते समय, कई अलग-अलग वॉलेट का उपयोग किया जाना चाहिए।

हर कोई जिसके पास एक वॉलेट का प्राइवेट पासवर्ड और पब्लिक पासवर्ड वह उसमे रखी क्रिप्टोकरेंसी का मालिक है, इसलिए कृपया अपना वॉलेट न खोएं! याद रखिये, क्रिप्टोकरेंसी गुमनाम है, जब तक आपके पास पासवर्ड नहीं होगा, तब तक आप अपनी क्रिप्टोकरेंसी का मालिकाना अधिकार साबित नहीं कर सकते।

मैंने आपको बताया है कि पहली क्रिप्टोकरेंसी कैसे बनाई गई थी और यह कैसे काम करती है। मैं आपको क्रिप्टोकरेंसी को संगृहीत और उपयोग करने के तरीके के बारे में भी बता चूका हूं। अब, बिटकॉइन के बाद से बनाई गई कुछ अन्य क्रिप्टोकरेंसी के बारे में भी जाने…

क्रिप्टोकरेंसी का उदय!

बिटकॉइन ने लोगों का पैसे के बारे में सोचने के तरीके को बदल दिया है। तब से, सैकड़ों अन्य क्रिप्टोकरेंसी भी बनाई जा चुकी हैं, और यह सभी दुनिया को बदलने की उम्मीद में बनाई गई हैं!

बिटकॉइन के बाद बनाई गई कुछ क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जाने:

  • लाईटकॉइन (Litecoin) काफी हद तक बिटकॉइन की तरह है, लेकिन इसकी लेन-देन पूरी करने की गति चौगुनी है। बिटकॉइन माइनिंग की तुलना में लाईटकॉइन माइनिंग आसान है, इसलिए कमजोर कंप्यूटर वाले उपयोगकर्ता माइनर बन सकते हैं।
  • इथीरियम (Ethereum) ऐसी ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करता है जो बिटकॉइन से अधिक उन्नत है। इसे कभी-कभी ब्लॉकचैन 2.0 भी कहा जाता है। इथीरियम उपयोगकर्ताओं को अपने ब्लॉकचैन पर स्वयं के विकेंद्रीकृत ऐप (डीएपी) को डिजाइन करने और बनाने की अनुमति देता है। अगर बिटकॉइन बैंकों की जगह केना चाहता है, तो इथीरियम बाकी हर चीज की जगह लेना चाहता है। इथीरियम डेवलपर फेसबुक, अमेज़न, ट्विटर और यहाँ तक कि Google जैसे केंद्रीकृत ऐप के dApp वर्शन बना सकते हैं! यह प्लेटफ़ॉर्म केवल एक क्रिप्टोकरेंसी हि नही, बल्कि उससे अधिक होता जा रहा है। तो, एक क्रिप्टोकरेंसी क्या है अगर यह वास्तविक क्रिप्टोकरेंसी नहीं है? इथीरियम! एक मंच जो विकेंद्रीकृत ऐप के निर्माण और होस्ट करने के लिए ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करता है।

रोचक तथ्य

2015 में इसकी शुरुआत के बाद से, इथीरियम का बाजार मूल्य तेजी से बढ़ गया है, और बाजार मूल्य के संदर्भ में, यह दूसरी सबसे ऊंची क्रिप्टोकरेंसी बन चुका है। पिछले साल ही, इथीरियम का बाजार मूल्य 22226% बढ़ गया, जो शुरुआती निवेशकों के लिए बहुत बड़ा वरदान है।

  • IOTA एक ​​बहुत ही खास क्रिप्टोकरेंसी है, इसमें ब्लॉकचेन नहीं होता है! IOTA एक अलग डीएलटी का उपयोग करता है जिसे टैंगल कहा जाता है। इसमें माइनर नए लेनदेन की पुष्टि नहीं करता, उपयोगकर्ता पुष्टि करता है… जब कोई उपयोगकर्ता भुगतान करने के लिए “टैंगल” का उपयोग करना चाहता है, तो उन्हें पहले दो अन्य उपयोगकर्ताओं के लेनदेन की पुष्टि करनी पड़ती है। इसके बाद ही उनके भुगतान पर कार्रवाई की जाती है। यह छात्रों का एक-दूसरे के काम को ग्रेड देने जैसा है। टैंगल को बिटकॉइन, लाइटकॉइन और इथीरियम की तुलना में ज्यादा तेज माना जाता है। यदि आपको लगता है कि यह अजीब है, तो यह जान लें की IOTA इंसानों की उपयोग के है हि नहीं! इसे विशेष रूप से ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स’ के लिए डिज़ाइन किया गया है।जिसे कोई भी इंटरनेट कनेक्शन वाली मशीन इस्तेमाल कर सकती है। IOTA ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स’ वाली मशीनों को खुद से संवाद करने में मदद करेगा। IOTA का पूरा नाम ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स एप्लिकेशन’ है। आइए कल्पना करें! भविष्य में, आपकी ड्राइवरलेस कार IOTA का उपयोग गैस स्टेशन पे जाने, ईंधन भरने और भुगतान करने के लिए करेगी। बिना आपके भाग लिए।

क्रिप्टोकरेन्सी का उपयोग केवल बैंकों के उपयोग के बिना लेन देन के लिए हि नहीं किया जाता है। वे हर तरह के अविश्वसनीय काम कर सकते हैं। इन क्रिप्टोकरेंसी को क्रिप्टोकरेन्सी एक्सचेंजों पर खरीदा और बेचा जा सकता है। तो, क्रिप्टोकरेन्सी ट्रेडिंग क्या है?

क्रिप्टोकरेन्सी ट्रेडिंग

क्रिप्टोकरेन्सी खरीदना और बेचना एक बहुत बड़ा व्यवसाय बन गया है। दुनिया में सभी क्रिप्टोकरेंसी का कुल मूल्य 350 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक है। आज तक, लगभग 121 बिलियन अमेरिकी डॉलर मूल्य की क्रिप्टोकरेंसी को दुनिया भर में खरीदी और बेचीं गई है!

रोचक तथ्य

आप क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों जैसे की ज़ेबपे, ऊनोकॉइन और वज़ीरएक्स के माध्यम से ऑनलाइन ट्रेड कर सकते हैं। आप पीयर साइट localbitcoin.com से स्वयं में क्रिप्टोकरेन्सी का लेन-देन भी कर सकते हैं.

क्रिप्टोकरेन्सी बाजार एक रोमांचक जगह है। व्यापारी एक पल में लाखों कमा सकते हैं, या एक पल में अपनी सभी संपत्ति खो सकते हैं। क्रिप्टोकरेन्सी रातोंरात बनाई गई थी और फिर तेजी से गायब भी हो गई थी। किसी भी नौसिखिए व्यापारी को मेरी सलाह यह है की उतना हि पैसा लगाएं जितना आप खोना बर्दाश्त कर सकते हैं। मुझे पता है कि यह एक सामान्य विषय है, लेकिन यह सच भी है!

एन्क्रिप्टेड लेन-देन को इस तकनीक का समर्थन करने के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए, न कि जल्दी से अमीर बनने के लिए!

जब से आपने इस गाइड को पढ़ना शुरू किया था, तब से आप क्रिप्टोकरेंसी के बारे में काफी अधिक जागरूक हो गए हैं। मैं सिर्फ एक सवाल का जवाब देना चाहता हूं। क्रिप्टोकरेंसी दुनिया के लिए क्या करेगी?

क्या क्रिप्टोकरेन्सी दुनिया को बचा सकती है?

क्रिप्टोकरेंसी के कई आलोचक हैं। कुछ लोग कहते हैं कि यह सब प्रचार है। वैसे उन लोगों के लिए मेरे पास एक बुरी खबर है। क्रिप्टोकरेंसी का अस्तित्व बना रहेगा, और यह दुनिया को एक बेहतर जगह बना देगा। क्योंकि केंद्रीकृत संगठन ने हमें निराश किया:

  • 2008 में, बैंकों ने करदाताओं का अरबों डॉलर का नुकसान किया और विश्व अर्थव्यवस्था के पतन का कारण बना।
  • क्रेडिट चेक एजेंसी इक्विफैक्स ने 2017 में 140,000,000 से अधिक ग्राहकों की व्यक्तिगत कानकारी खो दी।

क्रिप्टोकरेंसी दुनिया के लोगों को एक और विकल्प प्रदान करती है।

सीरिया, यमन और लीबिया की सरकारें अपने लोगों को हिंसक गृह युद्धों से बचाने में नाकाम रही हैं।

सीरियाई लोगों के लिए क्रिप्टोकरेंसी क्या है? यह एकआशा की किरण है। तीसरे पक्ष के भ्रष्टाचार के कारण संयुक्त राष्ट्र द्वारा सहायता के लिए दी गई राशि का तीस प्रतिशत खो गया है, इसलिए यूनिसेफ इथीरियम का उपयोग सीरिया में बच्चों के लिए धन जुटाने के लिए कर रहा है।

दुनिया में लगभग 2 बिलियन लोगों के पास बैंक खाता नहीं है। दस में से एक अफ़्ग़ानि का बैंक खाता नहीं है, और उनमें से कई महिलाएं हैं। अफ़ग़ानी महिलाओं के लिए क्रिप्टोकरेंसी क्या है? यह आजादी है-बिटकॉइन ने पहली बार अअफ़ग़ानी हिलाओं को आर्थिक आजादी दी है।

दुनिया के कुछ सबसे भ्रष्ट देशों के चुनावों में ब्लॉकचेन तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है। सूडान या म्यांमार के लोगों के लिए क्रिप्टोकरेंसी क्या है? यह वह आवाज है जो हिंसा या भय के बिना मुक्त चुनाव करा सकती है।

क्रिप्टोकरेंसी हम सभी के रहने के लिए दुनिया को एक निष्पक्ष, सुरक्षित और अधिक शांतिपूर्ण जगह बना सकती है।

निष्कर्ष:

अब तक, आप समझ चुके हैं कि क्रिप्टोकरेंसी क्या है और वे कैसे काम करती हैं। आपको यह भी पता हो गया है कि उन्हें कैसे संगृहीत करना है और कहां ट्रेड करना है। हालांकि, क्रिप्टोकरेंसी को समझना ब्लॉकचैन और माइनिंग को समझने से कहीं बढ़कर है। क्रिप्टोकरेंसी को समझना यह समझना है कि ये टेक्नोलोजिया आपके लिए क्या कर सकती हैं।

क्रिप्टोकरेंसी हमारे जीवन को हमेशा के लिए बदल सकती है। वे धन और जानकारी के नियंत्रण को पुनः प्राप्त करने में आपकी सहायता कर सकते हैं। कुछ लोग उनकी उपेक्षा करेंगे और आशा करेंगे कि वे चली जाएं। अन्य लोग पार्टी में शामिल होंगे। आप कौन से होंगे?

इस गाइड में, मैंने आपको क्रिप्टोकरेंसी के बारे में सभी आवश्यक ज्ञान दे दिया है।

अब आपकी बारी है…

आपके लिए क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

Leave a Comment