Aadhaar FaceRD app का इस्तेमाल कैसे करें?

Aadhaar Card Face Authentication: अब आपको आधार कार्ड सेंटर जाने की जरूरत नहीं है अब आप घर बैठे-बैठे सब कुछ कर सकते हैं।

प्रीमियम आधार कार्डधारकों को अब अपने साथ एक physical ID लाने की जरूरत नहीं है। इसके बजाय, वे अपने स्थानीय आधार enrollment centre में आंख और फ़िंगरप्रिंट स्कैन का उपयोग कर सकते हैं।

UIDAI द्वारा कभी भी और कहीं भी फेस ऑथेंटिकेशन करने के लिए एक नया मोबाइल ऐप AadhaarFaceRd लॉन्च किया गया।

Aadhaar FaceRD app:  इसमे आप अपनी पहचान वेरिफाई करने के लिए फेस ऑथेंटिकेशन का उपयोग कैसे कर सकते हैं।

Aadhaar FaceRD app भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) द्वारा लॉन्च किया गया है। Authentication User Agencies  ​​(AUA) वेरिफिकेशन प्रक्रिया के साथ एप्लिकेशन का उपयोग करके व्यक्ति के चेहरे की तस्वीर लेने में सक्षम होंगी। UIDAI ने 12 जुलाई के एक ट्वीट में कहा, “Aadhaar Face Authentication technology को UIDAI द्वारा इन-हाउस विकसित किया गया है एक जीवित व्यक्ति के चेहरे की तस्वीर लेने के लिए Aadhaar FaceRD app द्वारा फेस ऑथेंटिकेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग आधार वेरिफिकेशन में किया जाता है। 

इस नए जारी किए गए ऐप के साथ , आधार कार्ड धारकों को अब किसी भी समय और किसी भी स्थान पर वेरिफाई किया जा सकता है। इसलिए, आधार कार्ड वाले लोगों को ID ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

UIDAI का कहना है कि Central Identity Data Repository उन लोगों की बायोमेट्रिक की जानकारी रखेगा जिनके पास आधार कार्ड है। इसका मतलब है कि लोगों की निंजी जानकारी साझा नहीं होगी।

> mAadhaar App: आधार कार्ड जनरेट करें एमआधार ऐप से
> PAN Aadhaar Link: अपने पैन कार्ड को अपने आधार कार्ड से कैसे लिंक करें?

UIDAI का कहना है कि इस ऐप का इस्तेमाल कई अन्य ऐप में आपके आधार कार्ड से आपकी पहचान वेरिफाई करने के लिए किया जा सकता है। UIDAI ने एक ट्वीट में कहा कि निवासी अब UIDAI RD ऐप डाउनलोड करके आधार फेस ऑथेंटिकेशन फीचर का उपयोग कर सकते हैं। इस ऐप का उपयोग कई आधार वेरिफिकेशन ऐप, जैसे जीवन प्रमाण, PDS, छात्रवृत्ति योजना, CoVIN और किसान कल्याण योजनाओं के लिए किया जा सकता है। 

Aadhaar FaceRD app: इस तरह आप अपने चेहरे से अपनी ID वेरिफाई कर सकते हैं।

फेस ऑथेंटिकेशन अब आधार कार्ड वाले लोगों के लिए यह साबित करने का एक तरीका है कि वे कौन हैं। Unique Identification Authority of India (UIDAI) ने Aadhaar FaceRD ऐप नाम से एक ऐप जारी किया है। Google Play Store से , ऐप डाउनलोड करना आसान है। आधार वेरिफिकेशन के लिए वास्तविक व्यक्ति के चेहरे की तस्वीर लेने के लिए ऐप द्वारा फेस ऑथेंटिकेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है। फेस वेरिफिकेशन का उपयोग आधार वेरिफिकेशन ऐप जैसे जीवन प्रमाण, राशन वितरण (PDS), कोविन टीकाकरण ऐप , छात्रवृत्ति योजनाओं और किसान कल्याण योजनाओं के लिए भी किया जा सकता है।

UIDAI के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर 12 जुलाई को पोस्ट किया गया : “उपभोगकर्ता अब #UIDAI  #RDApp डाउनलोड करके #आधार फेस ऑथेंटिकेशन फीचर का उपयोग कर सकते हैं , जिसका उपयोग #जीवनप्रामन , #PDS, #स्कॉलरशिप योजनाओं,#किसान कल्याण योजनाएं जैसे विभिन्न आधार वेरिफिकेशन के लिए किया जा सकता है। 

“UIDAI ने आधार फेस ऑथेंटिकेशन के पीछे की तकनीक को बनाया है”।

फेस ऑथेंटिकेशन का इस्तेमाल आधार धारकों की पहचान, उनके आधार नंबर और किसी भी जनसांख्यिकीय या बायोमेट्रिक जानकारी को Central Identity Data Repository में स्टोर किया जा सकता है।

ऐप जारी होने के बाद आधार कार्डधारकों को अब अपने साथ फिजिकल ID नहीं लानी होगी। इसके बजाय, वे अपने स्थानीय आधार नामांकन केंद्र में आंख और फ़िंगरप्रिंट स्कैन का उपयोग कर सकते हैं। इस प्रक्रिया के माध्यम से , आधार धारक के वास्तविक नाम की पुष्टि की जाएगी और UIDAI डेटाबेस में जोड़ा जायेगा।

Aadhaar FaceRD app कैसे डाउनलोड करें।

Step 1: यदि आपके पास Android फ़ोन है , तो Google Play Store ऐप खोलें और Aadhaar FaceRD app सर्च करें।

Step 2: जब ऐप स्क्रीन पर दिखाई दे, तो “ Install “ पर क्लिक करें और फिर ऐप खोलें।

Step 3: फेस वेरिफिकेशन का उपयोग करने के लिए , स्क्रीन पर दिए गए निर्देशों का पालन करें और “Next” पर क्लिक करें ।

Step 4: चेहरा वेरिफिकेशन के लिए, आप को साफ सुथरी जगह पर खड़ा होना होगा सुनिश्चित करें कि अंधेरे में नहीं हैं और आपका कैमरा भी अच्छी तरह से साफ है।

सफलतापूर्वक हुई face authentication यह दर्शाती है कि आपका चेहरा आपके उस चेहरे साथ मैच हो चुका है जो आपने आधार कार्ड बनवाते समय लिया था।

Aadhaar FaceRD app के क्या फायदे हैं?

UIDAI से मिली जानकारी के अनुसार , आधार कार्डधारक कई आधार एप्लिकेशन के लिए फेस ऑथेंटिकेशन का उपयोग कर सकते हैं, जैसे:- जीवन प्रमाणइस अध्याय में और अधिकराशन वितरण प्रणाली (PDS) , टीकाकरण , छात्रवृत्ति योजनाएं , किसान कल्याण योजनाएं आदि।

निष्कर्ष:

लोग कम समय में अपनी पहचान वेरिफाई करने में सक्षम होंगे। इस समय , ये ऐप केवल Android स्मार्टफ़ोन पर ही उपलब्ध है लेकिन यह ही iOS उपयोगकर्ताओं के स्मार्टफ़ोन पर भी उपलब्ध हो जायेगा।

Leave a Comment