EMI कैसे चेक करें | How to check EMI

परिचय

EMI, या समान मासिक किस्त, एक निश्चित राशि है जो एक Lender को लोन या क्रेडिट चुकाने के लिए प्रत्येक माह एक विशिष्ट तिथि पर भुगतान की जाती है। इसकी गणना मूल राशि और लोन पर ब्याज के योग के रूप में की जाती है, जिसे लोन अवधि में महीनों की संख्या से विभाजित किया जाता है। लोन पर EMI की जांच करने के लिए, कुछ प्रमुख कारक हैं जिन्हें ध्यान में रखा जाना चाहिए। इस लेख में, हम उन विभिन्न तरीकों पर चर्चा करेंगे जिनसे आप अपनी EMI की जांच कर सकते हैं और ऐसा करते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

EMI Calculator को समझना

EMI Calculator का उपयोग करके अपनी EMI की जांच करने का सबसे आसान तरीका है। ये Calculator ऑनलाइन उपलब्ध हैं और बहुत उपयोगकर्ता के अनुकूल हैं। EMI Calculator का उपयोग करने के लिए, आपको बस निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी:

  • मूल लोन राशि
  • लोन पर ब्याज दर
  • लोन अवधि (महीनों में)

एक बार जब आप यह जानकारी दर्ज कर लेते हैं, तो EMI Calculator स्वचालित रूप से आपके लिए आपकी EMI की गणना करेगा। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ब्याज दर और लोन अवधि का EMI पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा। इसलिए, यदि आप विभिन्न लोन विकल्पों की तुलना कर रहे हैं, तो सटीक तुलना प्राप्त करने के लिए प्रत्येक विकल्प के लिए समान ब्याज दर और लोन अवधि का उपयोग करना महत्वपूर्ण है।

लोन के लिए कैसे अप्लाई करें?| How to Apply For Loan in Hindi

लोन स्टेटमेंट पर EMI चेक करना

एक बार जब आप अपनी EMI की गणना कर लेते हैं, तो आपको Lender द्वारा प्रदान की गई लोन शर्तों के विरुद्ध इसकी जांच करनी चाहिए। इससे आपको यह सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी कि आप सही राशि का भुगतान कर रहे हैं और कोई विसंगतियां नहीं हैं। आपको अपनी EMI की देय तिथि की भी जांच करनी चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप किसी भी विलंब शुल्क या दंड से बचने के लिए समय पर भुगतान करते हैं।

होम रेनोवेशन लोन(गृह नवीनीकरण ऋण) :होम रेनोवेशन लोन और कर लाभ

बैंक स्टेटमेंट पर EMI चेक करना

अपनी EMI की जांच करने का दूसरा तरीका यह है कि आप इसे अपने बैंक स्टेटमेंट से चेक करें। इससे आपको यह सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी कि EMI राशि आपके खाते से सही तिथि पर काटी जा रही है और सही राशि काटी जा रही है। आपको यह भी जांचना चाहिए कि EMI सही खाते में क्रेडिट की जा रही है, क्योंकि इससे आपको किसी भ्रम या त्रुटि से बचने में मदद मिलेगी।

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर EMI चेक करना

आप Lender के ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर अपनी EMI भी देख सकते हैं। कई Lender ऑनलाइन पोर्टल प्रदान करते हैं जो उधारकर्ताओं को उनके EMI विवरण सहित उनकी लोन जानकारी तक पहुंचने की अनुमति देते हैं। आप ऑनलाइन पोर्टल पर अपनी EMI राशि, देय तिथि और भुगतान स्थिति की जांच कर सकते हैं। आप ऑनलाइन भुगतान करने के लिए भी इस प्लेटफॉर्म का उपयोग कर सकते हैं, जो आपके लोन को प्रबंधित करने का एक सुविधाजनक तरीका हो सकता है।

EMI को प्रभावित करने वाले कारक

ऐसे कई कारक हैं जो आपकी EMI को प्रभावित कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. ब्याज दर: ब्याज दर जितनी अधिक होगी, आपकी EMI उतनी ही अधिक होगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि उच्च ब्याज दर का मतलब है कि आपको लोन के जीवन पर अधिक ब्याज का भुगतान करना होगा।
  2. लोन की अवधि: लोन की अवधि जितनी लंबी होगी, आपकी EMI उतनी ही कम होगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि आप लोन की अदायगी को लंबी अवधि में फैलाएंगे, जिसका अर्थ है कि प्रत्येक किश्त छोटी होगी।
  3. मूल लोन राशि: मूल लोन राशि जितनी अधिक होगी, आपकी EMI उतनी ही अधिक होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि लोन चुकाने के लिए आपको कुल मिलाकर अधिक भुगतान करना होगा।
  4. अपनी EMI की जांच करते समय इन कारकों को ध्यान में रखना महत्वपूर्ण है, क्योंकि वे आपके द्वारा हर महीने भुगतान की जाने वाली राशि पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकते हैं।

मैन्युअल रूप से EMI की गणना करना

यदि आप EMI Calculator का उपयोग नहीं करना चाहते हैं, तो आप निम्न सूत्र का उपयोग करके मैन्युअल रूप से अपनी EMI की गणना भी कर सकते हैं:

EMI = [P x R x (1+R)^N]/[(1+R)^N-1]

कहाँ:

पी = मूल लोन राशि

आर = ब्याज दर (दशमलव के रूप में)

एन = लोन अवधि (महीनों में)

इस सूत्र का उपयोग करके, आप किसी भी लोन राशि, ब्याज दर और लोन अवधि के लिए अपनी EMI की गणना कर सकते हैं।

निष्कर्ष

किसी लोन के Repayment को समझने के लिए अपनी EMI की जांच करना एक महत्वपूर्ण कदम है। यह आपको अपने वित्त की योजना बनाने, लोन की कुल लागत को समझने और लोन लेने या न लेने के बारे में एक सूचित निर्णय लेने में मदद करता है। EMI Calculator का उपयोग करके या अपने EMI की मैन्युअल रूप से गणना करके, आप आसानी से उस राशि का निर्धारण कर सकते हैं जो आपको लोन चुकाने के लिए हर महीने भुगतान करने की आवश्यकता होगी। याद रखें, ब्याज दर, लोन अवधि और मूल लोन राशि ऐसे कारक हैं जो EMI को बहुत अधिक प्रभावित कर सकते हैं, इसलिए अपनी EMI की जांच करते समय उन्हें ध्यान में रखना सुनिश्चित करें।

सामान्य प्रश्न

EMI क्या है और यह कैसे काम करती है?

EMI भुगतान लोन राशि और लोन राशि पर अर्जित ब्याज के लिए योगदान करते हैं। प्रारंभिक EMI भुगतान लोन के ब्याज घटक में अधिक योगदान देता है और इस प्रक्रिया को फ्रंट लोडिंग कहा जाता है। लोन अवधि के बाद के चरणों में, EMI का प्रमुख योगदान लोन मूलधन के Repayment में जाता है।

लोन EMI स्टेटस और EMI कार्ड स्टेटस कैसे चेक करें?

आगे बढ़ते हुए, दूर करने के लिए एक सामान्य भ्रम यह है कि लोन EMI स्थिति और EMI कार्ड स्थिति की जांच करना अलग-अलग है। अपने EMI नेटवर्क कार्ड की स्थिति की जांच करने के लिए, आप माई अकाउंट बजाज फिनसर्व वॉलेट ऐप का उपयोग कर सकते हैं। बजाज फिनसर्व EMI विवरणों की जांच करने के तरीकों को जानने के साथ-साथ, आपको नियमित रूप से EMI का भुगतान करने के लाभों को भी समझना चाहिए।

IMEI नंबर क्या है?

IMEI (या इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी) नंबर एक अद्वितीय 15-अंकीय सीरियल नंबर है जो इसके उत्पादन के दौरान प्रत्येक मोबाइल फोन को दिया जाता है। इसका उपयोग डिवाइस के मूल देश, निर्माता और मॉडल नंबर जैसे विवरण की जांच के लिए किया जा सकता है। यह डिवाइस की मौजूदा लोकेशन भी बता सकता है।

EMI का फॉर्मूला क्या है?

EMI = [2,00,000 x 1.66/100 x (1+1.66/100) ^ 24 / [ (1+1.66/100) ^ 24 – 1) EMI = रुपये। 10, 179 EMI Calculator सूत्र सार्वभौमिक है और इसे विभिन्न लोनों पर लागू किया जा सकता है। EMI मूल्य में भिन्नता तीन प्रमुख चरों के अनुसार होती है, अर्थात लोन राशि, लोन अवधि और ब्याज दर।

Leave a Comment