E Shram Card: ई-श्रम कार्ड ऑनलाइन कैसे प्राप्त करें? इस कार्ड के क्या लाभ हैं?

भारत सरकार ने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों का राष्ट्रीय डेटाबेस बनाने के लिए एक पोर्टल विकसित किया है।

इस पोर्टल पर पंजीकरण कर असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को 2 लाख रुपये तक का लाभ मिल सकता है।

भारतीय श्रम और रोजगार मंत्रालय के अनुसार, अब तक देश भर में 25 करोड़ से अधिक श्रमिकों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।

लेकिन वास्तव में यह पोर्टल क्या है? इस पोर्टल पर जाकर ई-लेबर कार्ड कैसे प्राप्त करें? और अब हम इससे होने वाले फायदों के बारे में जानेंगे।

ई-लेबर कार्ड पोर्टल

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों का राष्ट्रीय डेटाबेस बनाने के लिए भारत सरकार के श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा ई-श्रम पोर्टल विकसित किया गया है। इस पोर्टल पर पंजीकरण के बाद संबंधित कर्मचारी को ई-लेबर कार्ड जारी किया जाएगा।

देश के किसी भी कोने में काम करने वाले असंगठित क्षेत्र के श्रमिक ई-लेबर कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। इनमें निर्माण श्रमिक, प्रवासी श्रमिक, पेडलर, घरेलू कामगार, स्थानीय मजदूरी मजदूर, भूमिहीन खेतिहर मजदूर और अन्य असंगठित श्रमिक शामिल हैं।

ई-लेबर कार्ड बनवाने के लिए वर्कर की उम्र 16 से 59 साल के बीच होनी चाहिए।

हालांकि, एक व्यक्ति जो आयकर का भुगतान करता है और ईपीएफओ (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन), ईएसआईसी (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) का सदस्य है, वह इसके लिए पंजीकरण नहीं कर पाएगा।

इस पोर्टल पर पंजीकृत होने के बाद श्रमिकों को 12 अंकों का यूनिक कोड वाला ई-लेबर कार्ड दिया जाएगा। जिसे यूनिवर्सल अकाउंट नंबर कहा जाता है।

ई-लेबर कार्ड ऑनलाइन कैसे प्राप्त करें?

इसके लिए सबसे पहले आपको google पर “e shram” सर्च करना होगा।

इसके बाद आपको पहले लिंक पर क्लिक कर देना है उसके बाद आपके सामने ई-श्रम पोर्टल की वेबसाइट खुल जाएगी।

इस वेबसाइट के दायीं तरफ आपको REGISTER on e-Shram नाम का कॉलम दिखाई देगा। उस पर क्लिक कर देना है।

यहां “SELF REGISTRATION” कॉलम में आप आधार लिंक्ड मोबाइल नंबर और कैप्चा दर्ज करेंगे। Captcha अगले कॉलम में आने वाले अक्षरों और नम्बरों की संख्या है।

फिर आपको सेलेक्ट करना है कि आप EPFO और ESIC के सदस्य नहीं हैं। इन दोनों विकल्पों के आगे NO विकल्प पर क्लिक करें । और फिर Send OTP पर क्लिक करें।

उसके बाद आपके मोबाइल पर OTP आएगा उसको दर्ज करके Submit का बटन दबा देना है। Submit क्लिक करने के बाद आधार नंबर दर्ज करना है। ओटीपी विकल्प पर सही टिक को बरकरार रखना है और फिर कैप्चा डालना है।

फिर आपको मैं पंजीकरण के नियम और शर्तों से सहमत हूं, इसके ठीक पहले वाले बॉक्स पर टिक करें और फिर Submit करें।

इसके बाद आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा, उसे डालें और Validate पर क्लिक करें ।

फिर आपको स्क्रीन पर अपना आधार कार्ड विवरण नाम, जन्म तिथि, पता दिखाई देगा। नीचे दी गई उपरोक्त सभी जानकारी सही है, आपको इस बॉक्स पर टिक करना है और फिर जारी रखें अन्य विवरण पर क्लिक करना है।

अब सबसे पहले आपको व्यक्तिगत जानकारी भरनी होगी। इसमें विवाह की स्थिति, पिता का नाम और सामाजिक श्रेणी शामिल है। यदि आप विकलांग हैं तो आपको नहीं पर टिक करना होगा ।

फिर नॉमिनी का विवरण दर्ज करना होगा। इसमें नामांकित व्यक्ति का नाम, जन्म तिथि, लिंग और आपके साथ संबंध चुनना शामिल है। इसके बाद Save and Continue पर क्लिक करें।

इसके बाद आपको Address की जानकारी भरनी होगी। सबसे पहले राज्य और जिले का चयन करना होता है। तब आपको वर्तमान पता देना है। इसे ग्रामीण क्षेत्र के लिए शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के लिए ग्रामीण के बीच चयन करना होगा। फिर घर का नंबर, राज्य, जिला, तालुका और पिनकोड दर्ज करें।

फिर आपको बताना है कि आप यहां कितने साल रहे हैं। यदि ऐसा होता है तो स्थायी पता दर्ज करना होगा। इसे ग्रामीण क्षेत्र के लिए शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के लिए ग्रामीण के बीच चयन करना होगा। फिर घर का नंबर, राज्य, जिला, तालुका और पिनकोड दर्ज करें। इसके बाद Save and Continue पर क्लिक करें।

इसके बाद आपको अकादमिक जानकारी भरनी है। यहां आपको यह चुनना है कि आपने कितनी शिक्षा प्राप्त की है और फिर आपको यह चुनना है कि आप प्रति माह कितना कमाते हैं। इसके बाद Save and Continue पर क्लिक करें।

व्यवसाय और कौशल पृष्ठ पर आपको बताना है कि आप वर्तमान में प्राथमिक व्यवसाय में कौन सा व्यवसाय कर रहे हैं और फिर वर्षों के अनुभव का चयन करें। यदि आप कोई अन्य व्यवसाय कर रहे हैं तो इसका उल्लेख द्वितीयक व्यवसाय में करें। इसके बाद Save and Continue पर क्लिक करें। फिर आप अपना बैंक विवरण दर्ज करें।

इसमें बैंक अकाउंट नंबर डालना होता है। इसके बाद आपको खाताधारक का नाम, बैंक का IFSC कोड, बैंक का नाम और शाखा का नाम दर्ज करना होगा। इसके बाद Save and Continue पर क्लिक करें।

अब से आपके द्वारा पंजीकरण करते समय भरी गई जानकारी एक ही स्थान पर प्रदर्शित होगी। इसको पढ़ें और अंत में घोषणा पर टिक करें कि मेरे द्वारा भरी गई सभी जानकारी सत्य है। इसके बाद Submit ऑप्शन पर क्लिक करें।

फिर आपको स्क्रीन पर अपना ई-श्रम कार्ड दिखाई देगा। स्क्रीन के दाईं ओर डाउनलोड यूएएन कार्ड पर क्लिक करें और आपका ई-श्रम कार्ड डाउनलोड हो जाएगा।

इस पेज के नीचे कंप्लीट रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करने से आपकी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ये भी पढ़ें:
वोटर आईडी कार्ड नंबर कैसे पता करें?
दूसरा वोटर आईडी कार्ड ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें?
आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) क्या है? आप इससे कैसे लाभ उठा सकते हैं और इसमें क्या शामिल है?

ई-श्रम कार्ड के क्या लाभ हैं?

ई-श्रम कार्ड को आधार से जोड़ा गया है। इसके माध्यम से सरकार का लक्ष्य असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का विस्तार करना है।

उदाहरण के लिए, असंगठित क्षेत्र के सभी पंजीकृत कर्मचारियों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के माध्यम से दुर्घटना बीमा सुरक्षा प्रदान की जाएगी। इस योजना में आकस्मिक मृत्यु और स्थायी विकलांगता के मामले में 2 लाख रुपये और आंशिक विकलांगता के मामले में 1 लाख रुपये का लाभ प्रदान किया जाता है।

सरकार ने स्पष्ट किया है कि भविष्य में इस पोर्टल के माध्यम से सभी सामाजिक सुरक्षा योजनाएं प्रदान की जाएंगी।

Faqs

ई श्रम कार्ड के लिए कौन पात्र है?

कोई भी worker जो असंगठित है और 16-59 वर्ष की आयु के बीच है, वह eSHRAM पोर्टल पर पंजीकरण के लिए पात्र है।

ई श्रम पोर्टल में ऑनलाइन लॉग इन कैसे करें?

✔️ उसमें आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है जो आधार कार्ड से जुड़ा है।
✔️ उसके बाद आपको कैप्चा कोड भरना होगा।
✔️ फाइल करने के बाद आपको ईपीएफओ और ईएसआईसी के लिए हां/नहीं के विकल्प का चयन करना होगा।
✔️ इसके बाद आपको ‘Send OTP’ पर क्लिक करना होगा।

ई श्रम कार्ड मासिक आय क्या है?

प्रधान मंत्री श्रम योगी मानधन असंगठित श्रमिकों के लिए एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है, जिसकी मासिक आय 18 से 40 वर्ष है। 15000 या उससे कम।

क्या छात्र ई श्रम कार्ड बना सकते हैं?

सभी छात्र भारत के स्थायी निवासी होने चाहिए, आवेदक छात्र की आयु 15 से 59 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

असंगठित श्रमिकों का क्या अर्थ है?

असंगठित कामगार सामाजिक सुरक्षा अधिनियम, 2008 के तहत ‘असंगठित कामगार’ शब्द को परिभाषित किया गया है, ‘असंगठित क्षेत्र में घर पर काम करने वाला, स्व-नियोजित कामगार या मजदूरी करने वाला कामगार और इसमें संगठित क्षेत्र का एक कर्मचारी शामिल है जो इसके दायरे में नहीं आता है।

Leave a Comment