क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने की सोच रहे हैं? यह जानकारी जरूर जान लें

बिटकॉइन (BTC), इथीरियम (ETH), डोगे कॉइन (Doge), रिप्पल (XRP), बिटकॉइन कैश (BCH), लाइटकॉइन (LTC), मोनेरो (XMR), – क्रिप्टोकरेंसी मीडिया में छाई हुई है। यदि अरबों के नही तो लाखो के मुनाफों की शानदार सफलता की कहानियां रिपोर्ट की गयीं हैं – लेकिन क्या वर्चुअल पैसे में निवेश करना उचित है और क्या डिजिटल मुद्राएं एक नया वित्तीय साधन हैं?

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी वर्चुअल मुद्राओं के लिए एक शब्द है जो भुगतान के डिजिटल साधनों के रूप में काम कर सकता है।

भुगतान प्रक्रियाओं के लिए किसी बैंक की आवश्यकता नहीं होती है। वित्तीय संस्थानों की जगह एक विकेंद्रीकृत नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाता है जिनके प्रतिभागी लेनदेन का प्रबंधन करते हैं और मुद्रा की नई इकाइयां उत्पन्न करते हैं। यह ब्लॉकचेन तकनीक द्वारा संभव है जिस पर प्रत्येक क्रिप्टोकरेंसी आधारित है।

“क्रिप्टो” शब्द क्रिप्टोग्राफी से लिया गया है, जो प्राचीन ग्रीक (यूनानी) भाषा से आया है। इसका मतलब “गुप्त लेखन” भी होता है। आज क्रिप्टोग्राफी कंप्यूटर विज्ञान की एक शाखा मानी जाती है जो गुप्त डेटा के एन्क्रिप्शन से संबंधित है।

ब्लॉकचेन को अक्सर “सामूहिक एकाउंटिंग सिस्टम” के रूप में जाना जाता है। हर एक डेटा ब्लॉक में, उन सभी लेनदेन के बारे में एन्क्रिप्टेड जानकारी होती है जो किसी क्रिप्टोकरेंसी से किए गए हैं। यह एक डाटाबेस के रूप में काम करता है, जिसके ब्लॉक किसी केंद्रीय सर्वर पर नहीं बल्कि बड़ी संख्या में प्रतिभागियों के कंप्यूटर पर होते हैं।

आप पैसा क्यों निवेश करना चाहते हैं?

  • धन इकट्ठा करने के लिए
  • सपने पूरे करने के लिए
  • बच्चों के भविष्य के लिए
  • बुढ़ापे के लिए
  • बिना किसी लक्ष्य के

इस विकेंद्रीकृत नेटवर्क में कोई भी प्रतिभागी बन सकता है और डेटा की श्रृंखला जारी रखने के लिए कंप्यूटिंग शक्ति प्रदान कर सकता है। इस काम के लिए प्रतिभागी को क्रिप्टोकरेंसी के कॉइन या टोकन से पुरस्कृत किया जाता है। इस प्रक्रिया को “माइनिंग” कहते हैं।

अगर एक बार लेनदेन की जानकारी ब्लॉकचेन में लिख दी जाती हैं, तो इसे कोई भी प्रतिभागी बदल नहीं सकता है। यह नियम ब्लॉकचैन की सुरक्षा के लिए है और मुद्रा इकाइयों को एक से अधिक बार उपयोग नही किया जाए यह भी सुनिश्चित करता है। इसलिए, अब उन स्थापित संस्थानों की कोई आवश्यकता नहीं है जो पहले हमेशा पैसे के लेनदेन में शामिल होते थे।

क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गयीं?

क्रिप्टोकरेंसी क्यों बनाई गयीं?

पहली क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन का लक्ष्य बस एक भुगतान प्रणाली बनाना था जो उपभोक्ताओं को एक निश्चित मात्रा में और गोपनीयता के साथ, सूचनात्मक निर्णय लेने की अनुमति देते हुए वित्तीय संस्थानों के बिना काम करती हो।

नतीजतन, इन कुछ वर्षों में, बिटकॉइन का उपयोग अवैध लेनदेन के भुगतान के लिए किया गया है। हालांकि इस तथ्य ने क्रिप्टोकरेंसी की सामाजिक स्वीकृति को कम कर दिया, लेकिन इसमें इस्तेमाल हुई तकनीक में अब विस्तार और सुधार हुआ है। क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग अब केवल पैसे के लेनदेन के लिए नही बल्कि और कई कामों के लिए किया जा सकता है, क्योंकि वे संवेदनशील डेटा ट्रांसफर करने के लिए एक सुरक्षित, तेज और कम लागत वाला विकल्प है।

उदाहरण के तौर पे, एक पायलट परियोजना में, संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम, शरणार्थियों को संसाधन वितरित करने के लिए इथीरियम का उपयोग कर रहा है। यह संगठन ब्लॉकचेन के माध्यम से खाने के कूपन वितरित करता है, जिसका एक आईरिस स्कैन के माध्यम से इस्तेमाल कर के प्रभावित लोग शरणार्थी शिविरों में भुगतान कर सकते हैं। इस तरह से, वित्तीय सहायता सीधे जरूरतमंदों तक पहुँचती है और भ्रष्टाचार अब संगठन के लिए कोई समस्या नही है।

फेसबुक, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम के माध्यम से दुनिया भर में भुगतान करने के लिए लिब्रा नामक अपनी खुद की डिजिटल मुद्रा शुरू करना चाहता है। कुछ वास्तविक करेन्सियों की दर पर लिब्रा की एक्सचेंज कीमत सुनिश्चित की जाएगी जिससे इसकी कीमत में बहुत उतार-चढ़ाव नही आएगा। कई केंद्रीय बैंक अभी भी सोशल मीडिया की इस दिग्गज कंपनी की योजनाओं पर संदेह कर रहे हैं।

कौन-कौन सी क्रिप्टोकरेन्सियां उपलब्ध हैं?

2009 में, पहली बार और शायद सबसे ज्यादा लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बनाई गई: बिटकॉइन (BTC)। बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देखा जाए तो यह क्रिप्टोकरंसी अभी भी वर्चुअल मुद्रा बाजार की सबसे बड़ी करेंसी है। इथीरियम (ETH) और बाइनैंस Coin (BNB) दूसरी और तीसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी मानी जाती हैं।

बिटकॉइन और बिटकॉइन कैश दो अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी हैं।

कुल मिलाकर, दुनिया भर में 4,500 से अधिक अलग-अलग क्रिप्टोकरेन्सियां हैं और ऐसा लगता है कि हर दिन वर्चुअल मुद्राओं की संख्या बढ़ती जा रही है। लेकिन फिर भी कई अलग-अलग मुद्राएं क्यों हैं?

बेहतर तकनीक

सबसे पहले तो, बिटकॉइन की शुरुवात के बाद से तकनीक में कई सुधार किये गए हैं और इसे और विकसित किया गया है। इन सुधार और विकास ने उन मुद्रा विकल्पों के लिए मार्ग तैयार किया जो कि बिटकॉइन के मुकाबले अधिक लाभ देतीं हैं, और उनका अपना अलग उद्देश्य भी है।

उदाहरण के तौर पर, लाइटकॉइन बिटकॉइन की तुलना में तेज़ है, इथीरियम में न केवल पैसे का लेनदेन किया जा सकता है, बल्कि “स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स” भी उपलब्ध हैं, और रोज़ के ट्रांसफर तेजी से करने के लिए बैंक रिपल का उपयोग करते हैं।

बिटकॉइन का उछाल और क्रिप्टोकरेंसी के लिए पागलपन

तकनीकी प्रगति के साथ-साथ बिटकॉइन का उछाल भी आया। दिसंबर 2017 में, एक बिटकॉइन की कीमत लगभग $20,000 थी। अगले महीनों में इसमें भारी गिरावट देखने को मिली। 2018 के अंत में, एक बिटकॉइन की कीमत $3,000 से कम भी हुई थी – जो कि 85% की गिरावट है। मार्च 2021 तक, बिटकॉइन का मूल्य $50,000 से अधिक हो गया था। वैकल्पिक मुद्रा की रिकॉर्ड-तोड़ संपत्ति, बाजार को विशेष रूप से सट्टेबाज़ी के लिए दिलचस्प बनाती है और नई क्रिप्टोकरेंसी को विकसित करने और पुरानी क्रिप्टोकरेंसी की नई इकाइयों को जारी करने का प्रोत्साहन देती हैं।

कैशलेस डिजिटल मुद्राओं के लिए नए विचार, योजनाएं और व्यवसाय मॉडल लगातार उभर रहे हैं। चाहे ऐसी क्रिप्टोकरेन्सिया जो हीरे (“कैरेट”) या तेल (“पेट्रो”) पर आधारित हों, या अच्छे कामों के लिए पुरस्कार के रूप में दी जाती हों (“हलकॉलोन”), या एक ऐसी क्रिप्टोकरेंसी जो बस बिटकॉइन की कॉपी हो (“डॉगकोइन”) – क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में कल्पना की कोई सीमा नही है।

भुगतान के साधन के रूप में क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है?

बिटकॉइन और इथीरियम से सुपरमार्केट में कॉफी और टोस्ट खरीदने जैसे भुगतान अभी तक व्यापक रूप से स्वीकार नही किये गए हैं, लेकिन यह संभव है।

एक नियमित भुगतान प्रणाली के रूप में क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग अभी भी काफी समस्याओं से भरा हुआ है क्योंकि इसमें कोई निश्चित एक्सचेंज मूल्य नहीं है और मूल्य बहुत बढ़ता-घटता है। इस लिए छोटे दुकानदारों के लिए क्रिप्टोकरेंसी स्वीकार करना अक्सर जोखिम से भरा होता है। फिर भी, अधिक से अधिक ऑनलाइन दुकानें कैशलेस डिजिटल मुद्राओं के माध्यम से बकाया राशि का भुगतान स्वीकार करने की पेशकश कर रही हैं। कॉइनमैप उन सभी दुकानों को सूचीबद्ध करता है जो क्रिप्टोकरेंसी स्वीकार करतीं हैं।

हालांकि, अब तक वर्चुअल मुद्राओं को मुख्य रूप से “वॉलेट” और डिजिटल पर्स में संग्रहीत किया गया है, और संख्यात्मक कोड वाले प्राइवेट ‘की’ (पासवर्ड) से सुरक्षित किया गया है।

Key

वॉलेट और उसमे रखी क्रिप्टोकरेंसी केवल ‘key’ का उपयोग करके ही एक्सेस की जा सकती है। इस ‘key’ के खो जाने पर किसी भी तरह वॉलेट को एक्सेस नही किया जा सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी में मैं कैसे निवेश कर सकता हूं?

वर्तमान में, अमेरिकी डॉलर में मापी गई सभी क्रिप्टोकरेंसी का कुल बाजार पूंजीकरण एक ट्रिलियन से अधिक है और अगर इतनी पूंजी प्रचलन में है, तो पैसा निवेश भी किया जा सकता है। क्रिप्टोकरेंसी को पैसे में बदलने के विभिन्न तरीके हैं।

करेंसी ट्रेडिंग क्रिप्टोकरेंसी को फिएट करेंसी की तरह ही ट्रेड किया जा सकता है, यानी बिना किसी असली मूल्य के विनिमय के माध्यम के रूप में। करेंसी ट्रेडिंग या विदेशी मुद्रा व्यापार के समान, मुद्रा दरों में उतार-चढ़ाव का उपयोग धन बढ़ाने के लिए किया जाता है। ECB जैसे कोई केंद्रीय बैंक, वित्तीय नियामक या सरकारी नियम नहीं हैं जो पैसे की आपूर्ति की निगरानी रखते हों और बाजार में बहुत उतार आने पर हस्तक्षेप करते हों। 2017 में बिटकॉइन की कीमत में शानदार वृद्धि ने क्रिप्टोकरेंसी जो सट्टेबाज़ी का जरिया बना दिया और कई जुआरियों को आकर्षित किया।

क्रिप्टो माइनिंग    एक और संभावना क्रिप्टोकरेंसी की माइनिंग है, जिसका वर्णन ऊपर किया गया है। इस तरह से, विकेन्द्रीकृत क्रिप्टो नेटवर्क में प्रतिभागी क्रिप्टोकरेंसी की नई इकाइयाँ उत्पन्न करते हैं जिन्हें वे अच्छे मुनाफे में बेच सकते हैं।

स्टॉक एक्सचेंज    स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से डिजिटल मुद्राओं में अप्रत्यक्ष रूप से निवेश करने के कई विकल्प हैं। बिटकॉइन फ्यूचर्स ऐसा एक माध्यम है जिसको इस्तेमाल कर के स्टॉक एक्सचेंज व्यापारी बिटकॉइन के उतार-चढ़ाव पर दांव लगा सकते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी ETF (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) भी बड़े पैमाने पर नियोजन चरण में हैं – हालांकि, इस तरह के वित्तीय माध्यम को अभी तक अमेरिकी प्रतिभूति और विनिमय आयोग (US सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन) द्वारा अनुमोदित नहीं किया गया है। लेकिन, 2020 में ब्राजील में दुनिया का सबसे पहले बिटकॉइन ETF की घोषणा की गई थी और 2021 में कनाडा के बाजार में भी एकऔर ETF लाया गया।

यूरोप में अब क्रिप्टो ETN (एक्सचेंज ट्रेडेड नोट) में निवेश करना संभव हो गया है। लेकिन सावधान रहें: ETN और ETF अलग-अलग हैं। ETF में निवेश किए गए पैसे को एक अलग संपत्ति माना जाता है और ETF जारीकर्ता के दिवालिया होने की स्थिति में संरक्षित किया जाता है, ETN पर यह शर्तें लागू नहीं होती हैं।

शेयर इसके अलावा, उन कंपनियों के शेयरों में पैसा लगाने की संभावना है जो क्रिप्टोकरेंसी क्षेत्र में सक्रिय हैं। उदाहरण के तौर पे बिटकॉइन ग्रुप, जो ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म bitcoin.de का प्रबंधन करता है।

ICO    प्रारंभिक कॉइन ऑफ़र (ICO) में, क्राउडफंडिंग का उपयोग किसी क्रिप्टोकरेंसी के नए सिक्कों को जारी करने के लिए पूंजी इखट्टा करने के लिए किया जाता है। निवेशकों को उनकी पूँजी के बदले नई क्रिप्टोकरेंसी इकाइयां दी जाती हैं।

क्रिप्टो बाजार के खतरे क्या हैं?

जो कोई भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करता है, उसे इस नए, अनियमित बाजार में निवेश के साथ आने वाले भारी खतरों के बारे में पता होना चाहिए। अब तक, कोई भी निश्चितता के साथ भविष्यवाणी नहीं कर सकता है कि वर्चुअल मुद्राएं कैसे विकसित होंगी।

व्यापार करते समय विशेष रूप से पूरी संपत्ति खोने का जोखिम होता है, क्योंकि किसी भी क्रिप्टोकरेंसी का बाजार मूल्य पूरी तरह से उसकी मांग पर आधारित है और किसी भी समय बहुत नीचे गिर सकता है। इसलिए आपको वास्तव में केवल तभी निवेश करना चाहिए जब आप सम्पूर्ण निवेशित पूंजी खोना बर्दाश्त कर सकते हों।

कोई निवेशक सुरक्षा नहीं होती है

तथ्य यह है कि क्रिप्टोकरेंसी राज्यों द्वारा लगाए गऐ किसी भी विनियमन नियम के अंतर्गत नहीं आती है मगर इसका यह मतलब भी है कि इसमें कोई भी निवेशक सुरक्षा नही है। ध्यान रखें कि कोई भी आपको इसमें निवेश के जोखिमों के बारे में सूचित नहीं करेगा और आपको खुद हि अपने आप को पूरी तरह से सूचित रखना होगा।

अधिक अस्थिरता

सिद्धांत रूप में, किसी भी क्रिप्टोकरेंसी का मूल्य विश्वास और स्वीकृति पर आधारित है। यूरो, और डॉलर जैसी स्थापित मुद्राओं के विपरीत, जो केंद्रीय बैंकों और राज्यों की निगरानी में होती हैं और उनके द्वारा सुरक्षित की गई हैं। क्रिप्टोकरेंसी केवल एक तकनीकी प्रणाली है जिसमें हर कोई भाग ले सकता है और जिसके लिए क्रिप्टोकरेंसी की स्थिरता आवश्यक नही है।

जनवरी और अप्रैल 2018 के बीच, सभी क्रिप्टोकरेंसी ने अपने बाजार पूंजीकरण का लगभग सत्तर प्रतिशत गिरावट देखी। दक्षिण कोरिया जैसे विभिन्न देशों द्वारा विनियमन पर नियमों को लागू करने के बढ़ते प्रयासों ने निवेशकों को अस्थिर कर दिया और उन्हें क्रिप्टो बाजार से अरबों डॉलर निकालने पर मज़बूर कर दिया। परिणामस्वरूप, कई छोटी मुद्राओं की दरें जितनी जल्दी बढ़ीं थीं उतनी ही जल्दी ढह गईं।

क्रिप्टोकरेंसी बेहद अस्थिर हैं और इनकी दरें बहुत जल्दी और बहुत तेज़ी से बदल सकती हैं। इसलिए यदि आप वास्तव में क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेड करना चाहते हैं, तो आपको न केवल पूंजी निवेश करनी पड़ेगी, बल्कि आपके वित्तीय निवेशों में भी बहुत समय और ध्यान देना होगा। यदि आप दैनिक मूल्य में दोहरे अंकों के उतार-चढ़ाव में भी शांत रह सकते हैं, तो आपके पोर्टफोलियो में अन्य निवेशों के साथ क्रिप्टोकरेंसी एक दिलचस्प, निवेश का सट्टा बन सकता है।

मूल्य में हेरफेर

ऐसे व्यक्ति जो क्रिप्टोकरेंसी में बड़ी हिस्सेदारी रखते हैं, वे इसका उपयोग अपने लाभ के लिए दरों में हेरफेर करने में कर सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी में, न तो ऐसे कानून हैं जो इस पर प्रतिबंध लगाते हैं, और न ही ऐसी चालों को रोकने वाली संस्थाएं हैं।

क्रिप्टोकरेंसी को फिएट करेंसी में कैसे बदलें

क्रिप्टोकरेंसी को आसानी से यूरो या डॉलर नही बदला जा सकता है क्योंकि इसका कोई स्थिर विनिमय दर नहीं है। आमतौर पर, आपको अपनी क्रिप्टो संपत्ति को पहले बिटकॉइन जैसी बड़ी क्रिप्टोकरेन्सियों में से एक में बदलना पड़ेगा, ताकि फिर आप बिटकॉइन को यूरो के बदले बेच सकें। यह कई समस्याओं में से एक समस्या हो सकती है, खासकर नए क्रिप्टो करेन्सियों के साथ।

लाभ-कभी, लेनदेन में लंबा समय भी लगता है क्योंकि ब्लॉकचेन काफी व्यस्त हो सकती है। कितनी देर में आपका ट्रांसफर पूरा होगा, उतनी देर में अत्यधिक अस्थिरता के कारण कीमतें गिर सकती हैं और आपको नुकसान हो सकता है।

इसके अलावा, आपके पास डीलरों द्वारा दी गई विनिमय दर की जानकारी पर निर्भर रहने के सिवाय कोई विकल्प नहीं है। यह दरें भी किसी नियंत्रण के अधीन नहीं हैं।

अपराध और चोरी

क्यूंकि क्रिप्टोकरेन्सियां गुमनामी की गारंटी देती हैं, इसलिए यह जरूरी नहीं है कि उनके मालिक हैं पता किये जा सके। यह उन्हें साइबर अटैक के लिए एकदम सही बनाता है। जनवरी 2017 में शायद अब तक की सबसे बड़ी डकैती हुई थी: हैकर्स ने जापानी क्रिप्टो एक्सचेंज कॉइनचेक और उसके ग्राहकों के 500 मिलियन NEM चुरा लिए, इस समय उसकी कीमत लगभग € 500 मिलियन है।

सॉफ्टवेयर की दिक्ततें

सबसे पुराना ब्लॉकचेन 2009 से चला आ रहा है । अब तक ऐसी दो घटनाएं हुई हैं जिसने ब्लॉकचेन पे आधारित बिटकॉइन को प्रभावित किया है। यह नही खा जा सकता किभविष्य में यह दुबारा हो सकती हैं या कोई बड़ी दिक्कत्तें भी आ सकती हैं।

बिजली की खपत

भारी निवेशक जोखिमों के अलावा, क्रिप्टोकरेंसी में एक और नुकसान भी है: उनके प्रबंधन और उत्पादन में बिजली की भारी मात्रा में आवश्यकता होती है।

क्या क्रिप्टोकरेंसी एक नया वित्तीय साधन है?

ऐसा लगता है कि क्रिप्टो तकनीक में बहुत संभावनाएं है। यह 2018 में हासो प्लैटनर इंस्टीट्यूट द्वारा किये गए एक अध्ययन का निष्कर्ष है। लेकिन, क्रिप्टोकरेंसी आगे चल कर क्या भूमिका निभाएगी और वर्तमान में मौजूद दो हजार से अधिक में से कितनी बचेंगी इसका फिलहाल किसी को पता नहीं है।

सामान्य तौर पर, इस समय क्रिप्टोकरेंसी में एक बड़ा निवेश उचित नहीं है। क्योंकि अभी तक यह निवेश काम और जुआ या कैसिनो ज्यादा प्रतीत होती है।

क्रिप्टोकरेंसी के अलावा, बढ़ते डिजिटलकरण ने निवेश के अन्य रूपों का भी उत्पादन किया है। उनमें से एक रियल एस्टेट क्राऊडिंवेस्टिंग है, जिसमें एक निवेश साधन को एक डिजिटल प्लेटफॉर्म के साथ जोड़ा जाता है। प्लेटफार्म का उपयोग करके, निजी निवेशक मेजेनाइन पूंजी में जल्दी, आसानी से और बिना किसी लागत के, निवेश कर सकते हैं, यह एक तरह की संपत्ति का वर्ग है जो पहले केवल बड़े निवेशकों के लिए पहुँच में था।

Author

  • रोहित कुमार onastore.in के लेखक और संस्थापक हैं। इन्हे इंटरनेट पर ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीकों और क्रिप्टोकरेंसी से संबंधित जानकारियों के बारे में लिखना अच्छा लगता है। जब वह अपने कंप्यूटर पर नहीं होते हैं, तो वह बैंक में नौकरी कर रहे होते हैं। वैकल्पिक रूप से [email protected] पर उनके ईमेल पर संपर्क करने की कोशिश करें।

1 thought on “क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने की सोच रहे हैं? यह जानकारी जरूर जान लें”

Leave a Comment